India vs  Argentina Women Hockey: यह हार नहीं जीत है, सोना-चांदी नहीं, हारकर भी हीरे जैसी चमक गईं हमारी ये  लड़कियां

नई दिल्ली। हम हार की बात नहीं करेंगे। क्योंकि यह हार नहीं है। क्या हुआ सोना या चांदी हाथ में नहीं है। हमारे पास हीरे हैं। ऐसे हीरे जो ओलिंपिक में चमके हैं। पूरी दुनिया को उन्होंने अपनी चमक दिखाई है। भारतीय महिला टीम सेमीफाइनल में अर्जेंटीना से 2-1 से हार गई। पर ब्रॉन्ज का मौका उनके पास अभी भी है। अर्जेंटीना की तेजतर्रार टीम के मुकाबले जिन्हें कहीं भी मुकाबले में नहीं माना जा रहा था, उन लड़कियों ने क्या गजब खेल दिखाया। आखिरी 10 सेकंड तक उन्होंने विपक्षी टीम की धड़कनें बढ़ाए रखीं। ये लड़कियां हारकर भी हमारा ही नहीं, दुनिया का भी दिल जीत गईं।पहले ही 5 मिनट में अर्जेंटीना को कर दिया था हैरान

पहले पांच मिनट में भारतीय हॉकी टीम ने अर्जेंटीना को हैरान कर दिया। गुरजीत कौर ने पेनल्टी कॉनर्र को गोल में बदलकर टीम को 1-0 की बढ़त दिलाई। हालांकि इसके बाद अर्जेंटीना ने हिसाब बराबर कर दिया। मारिया बैरियोन्यूवो ने तीसरे क्वार्टर की शुरुआत में अर्जेंटीना को बढ़त दिलाने के लिए एक और पीसी को कन्वर्ट किया।

दूसरे क्वार्टर में स्कोर किया बराबर

अर्जेंटीना ने दूसरे क्वार्टर की शुरुआत में अपने बराबरी का स्कोर बनाने के लिए जोरदार वापसी की। अर्जेंटीना की कप्तान मारिया बैरियोन्यूवो ने 18वें मिनट में एक पेनाल्टी को गोल करके बराबर किया। भारत को बाद में तीन पेनाल्टी कॉर्नर मिले लेकिन टीम उन्हें भुनाने में असफल रहा। भारत के डिफेंडरों के लिए ये अच्छा क्वार्टर रहा। अर्जेंटीना ने कई बार अच्छे सर्कल में प्रवेश किया मगर भारतीय डिफेंडरों ने इसको विफल किया है। भारत को अब दूसरे हाफ में विरोधियों पर दबाव बनाने के लिए बढ़त लेने की जरूरत है।

तीसरे क्वार्टर में 2-1 की बढ़त

मारिया बैरियोन्यूवो ने तीसरे क्वार्टर की शुरुआत में अर्जेंटीना को बढ़त दिलाने के लिए एक और पेनल्टी कॉर्नर को गोल में कन्वर्ट किया। इसी गोल के साथ उन्होंने बढ़त भी बनाई। तीसरे क्वार्टर में अर्जेंटीना की टीम काफी आक्रामक नजर आ रही है। अर्जेंटीना ने अपना गेम प्लान चेंज किया है। पहले वो गेम को स्लो-स्लो आगे ले जा रही थी मगर दूसरे क्वार्टर के बाद काफी तेज खिलाड़ी भारतीय घेरे के नजदीक आ रहे थे। उन्होंने गोल करने के कई मौके भी बनाए मगर भारतीय डिफेंडरों ने अच्छा डिफेंड दिखाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *