पाकिस्तान को इनकार करना आसान है, भारत को कोई ऐसा नहीं कहता: ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर उस्मान ख्वाजा

नई दिल्ली। ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर उस्मान ख्वाजा ने हाल ही में पाकिस्तान में अंतरराष्ट्रीय मैचों के आयोजन पर अपनी राय रखी थी। हालांकि साल 2019 में पाकिस्तान में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी हो गई थी लेकिन क्रिकेट खेलने वाले बड़े देश अब भी पाकिस्तान जाने से कतरा रही हैं।

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को हाल ही में बड़ा झटका लगा जब न्यूजीलैंड ने कोई मैच खेले बिना ही अपना दौरा रद्द कर दिया। इसके बाद इंग्लैंड ने भी दो टी20 इंटरनैशनल मैचों की अपनी सीरीज के लिए भी दौरा करने से इनकार कर दिया।

ख्वाजा का कहना है कि पाकिस्तान ने पीएसएल का सुरक्षित आयोजन करवाकर यह साबित कर दिया है कि देश क्रिकेट खेलने के लिए सुरक्षित है। 34 वर्षीय ख्वाजा का कहना है कि उन्हें कोई कारण समझ नहीं आता कि आखिर क्यों देशों को सही तरीके से पाकिस्तान का दौरा नहीं करना चाहिए।

ख्वाजा ने कहा, ‘मुझे लगता है कि खिलाड़ियों और संस्थाओं के लिए पाकिस्तान को इनकार करना काफी आसान लगता है। क्योंकि यह पाकिस्तान है। मुझे लगता है कि अगर बांग्लादेश की बात होती तब भी यही सोच होती। लेकिन अगर भारत इसी स्थिति में होता तो कोई भी उसे इनकार नहीं करता।’

ख्वाजा ने कहा, ‘पैसा बोलता है, हम सब यह जानते हैं। और यही शायद इसके पीछे की एक बड़ी वजह है। वह (पाकिस्तान) बार-बार अपने टूर्नमेंट्स के जरिए यह बात साबित करता चला आ रहा है कि वह क्रिकेट खेलने के लिए सुरक्षित स्थान है। मुझे लगता है कि हमारे वापस नहीं जाने का कोई कारण है।’

ऑस्ट्रेलिया को 2022 में पाकिस्तान का दौरा करना है। लेकिन पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष रमीज राजा को लगता है कि ऑस्ट्रेलिया भी इंग्लैंड और न्यूजीलैंड की राह पर चल सकता है।

इस साल पाकिस्तान में हुए पीएसएल के चरण के लिए ख्वाजा इस्लामाबाद यूनाइटेड के लिए खेले थे। उनका कहना है कि खिलाड़ियों ने इस दौरान काफी सुरक्षित महसूस किया। उन्होंने कहा कि हाल के कुछ वर्षों में पाकिस्तान में सुरक्षा इंतजाम कई गुणा बेहतर हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *