हार्दिक की छठे नंबर पर अहमियत जानते हैं, रातों रात नहीं ढूंढ सकते विकल्प : कोहली

भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने शनिवार को कहा कि हार्दिक पंड्या का छठे नंबर के बल्लेबाज के रूप में कौशल इतना अहम है कि रातों रात उनका विकल्प नहीं खोजा जा सकता है और अगर वह टी20 विश्व कप (T20 World Cup) में गेंदबाजी नहीं भी करते हैं तब भी अंतिम एकादश में उनकी जगह पक्की है।

पंड्या (Pandya) ने 2019 में अपनी पीठ के निचले हिस्से का आपरेशन करवाया था और उसके बाद वह कभी-कभार ही गेंदबाजी कर पाए जिससे यह सवाल उठने लगे कि क्या वह इस महत्वपूर्ण टूर्नामेंट में केवल बल्लेबाज के रूप में खेल सकते हैं।

कोहली (Kohli) ने हालांकि पाकिस्तान के खिलाफ मैच की पूर्व संध्या पर इस चर्चा को यहीं पर समाप्त करने की कोशिश की।

कोहली (Kohli) से संवाददाता सम्मेलन में पूछा गया कि गेंदबाजी नहीं कर पाने की स्थिति में क्या पंड्या का चयन किया जाएगा, उन्होंने कहा, ‘ईमानदारी से कहूं तो मुझे लगता है कि हार्दिक की फिटनेस (Hardik Pandya Fitness) लगातार बेहतर होती जा रही है और उसे देखते हुए वह टूर्नामेंट के किसी चरण में हमारे लिए दो ओवर कर सकते हैं।’

कोहली ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अभ्यास मैच में स्वयं गेंदबाजी की और उन्होंने कहा कि जरूरत पड़ने पर उनके पास विकल्प हैं।

उन्होंने कहा, ‘हमारा मानना है कि जब तक वह गेंदबाजी शुरू नहीं करता तब तक हम अपने पास मौजूद विकल्पों का पूरा उपयोग कर सकते हैं। हमने एक या दो ओवर करने के लिए कुछ अन्य विकल्पों पर विचार किया है। इसलिए हम बिल्कुल भी परेशान नहीं हैं। उस स्थान पर उसकी जो अहमियत है उसे कोई अन्य रातों रात तैयार नहीं कर सकता।’

पंड्या ने 2020 के आखिर में ऑस्ट्रेलिया में टी20 सीरीज में विशुद्ध बल्लेबाज के रूप में हिस्सा लिया था और अच्छा प्रदर्शन किया था।

कोहली ने कहा, ‘मैंने ऑस्ट्रेलिया में उसे केवल एक बल्लेबाज के रूप में खिलाने का समर्थन किया और हमने देखा कि उसने क्या किया और जब वह पूरे प्रवाह में खेलता है तो कैसे अकेले दम पर मैच विपक्षी टीम की जद से दूर ले जाता है।’

उन्होंने कहा, ‘बातचीत या चर्चा के नजरिए से ये चीजें दिलचस्प लगती हैं कि अगर वह गेंदबाजी नहीं करता तो क्या उसे टीम से बाहर किया जाएगा? लेकिन हम छठे नंबर के बल्लेबाज के रूप में उसकी (पंड्या) अहमियत जानते हैं और विश्व क्रिकेट में अगर आप गौर करो तो अन्य टीमों में भी विशेषज्ञ यह भूमिका निभा रहे हैं।’

कोहली ने हालांकि अंतिम एकादश के बारे में कुछ खास नहीं बताया और कहा कि प्रत्येक खिलाड़ी अपनी भूमिका अच्छी तरह से समझता है।

उन्होंने कहा, ‘हमने अपने संयोजनों पर बात की लेकिन मैं अभी इसका खुलासा नहीं करने जा रहा हूं। हमने बेहद संतुलित टीम तैयार की है जो हमें लगता है कि सभी विभागों में अच्छा योगदान देगी।’

भारत और पाकिस्तान के बीच मुकाबले के बारे में कोहली ने हमेशा की तरह रवैया अपनाते हुए कहा कि बाहर क्या बातें हो रही हैं इससे टीम पर प्रभाव नहीं पड़ता।

कोहली ने कहा, ‘नहीं ऐसा नहीं है। हम ऐसी स्थिति में हैं जहां हम अपनी भूमिका निभाने के लिए तैयार हैं और इसके लिये जितना संभव हो सके स्वयं को संतुलित अवस्था में रखना जरूरी है।’

उन्होंने कहा, ‘इसके अलावा पेशेवर क्रिकेटर के रूप में आप उस स्थिति के बारे में सोचना शुरू कर देते हैं जहां हमें बल्लेबाज या गेंदबाज के रूप में अपनी भूमिका निभानी होती है।’

कोहली ने कहा, ‘इस तरह के मैचों में बाहर कुछ अनावश्यक चीजें होती हैं। यह तब तक ठीक है जब तक यह हमारे नियंत्रित माहौल से बाहर रहता है। हम केवल इस बात पर ध्यान केंद्रित करते हैं कि क्रिकेटरों के रूप में हमें क्या करने की आवश्यकता है और इसलिए यह हमारे लिए क्रिकेट के अन्य मैचों से भिन्न नहीं है।’

उन्होंने कहा, ‘हां, स्टेडियम के अंदर का माहौल भिन्न है लेकिन हमारी मानसिकता नहीं बदली है और हमारी तैयारियां भी अलग नहीं हैं।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *