‘हिंदुओं के बीच नमाज’ वाले बयान पर वकार यूनिस ने मांगी माफी, कहा- आवेश में आकर मुझसे बहुत बड़ी गलती हो गई

भारत-पाकिस्तान मुकाबले के दौरान पाक बल्लेबाज मोहम्मद रिजवान के मैदान पर नमाज पढ़ने को मैच का सबसे अच्छा लम्हा बताने वाले वकार यूनुस ने अब माफी मांगी है। वकार ने कहा कि उन्होंने आवेश में आकर यह बात बोल दी थी, वह इसके लिए माफी मांगते हैं।

पाकिस्तान के इस पूर्व तेज गेंदबाज ने एक न्यूज चैनल पर डीबेट के दौरान यह बात कही थी। कई पूर्व क्रिकेटरों ने वकार यूनुस के बयान की कड़ी आलोचना की थी। उनका यह बयान पाकिस्तान के गृह मंत्री शेख राशिद के बयान की ठीक बाद आया था, जिसमें उन्होंने पाक की जीत को इस्लाम की जीत करार दिया था।

 

वकार यूनिस ने अपने माफी वाले ट्वीट में लिखा है, ‘आवेश में आकर मैंने ऐसी बात कह दी, मैंने ऐसा कुछ कहा, जो मेरा कहने का मतलब नहीं था, जिससे काफी लोगों की भावनाएं आहत हुई हैं। मैं इसके लिए माफी मांगता हूं, मेरा ऐसा मकसद बिल्कुल नहीं था, सच में गलती हो गई। खेल लोगों को रंग और धर्म से हटकर जोड़ता है।’

वकार के इस ट्वीट पर खुद उनके देश में ही उनका विरोध शुरू हो गया था। रमीज राजा ने ट्वीट में लिखा- जरा भी आश्चर्य नहीं हुआ। मैं अपने अनुभव से बता सकता हूं कि एक आदमी जो अपने देश की भाषाओं और शहरों के बारे में नस्लवादी है, वह आसानी से धार्मिक मतभेदों के बारे में इस तरह की नकारात्मक टिप्पणी कर सकता है। साथ ही रमीज ने #alwaysbitter (हमेशा कड़वा) #alwaysnegative (हमेशा नकारात्मक) टैग भी लिखे।वकार के इस कमेंट को लेकर भारत के स्टार कमेंटेटर हर्षा भोगले ने कहा था, ‘मैं इस बात को लेकर आश्वस्त हूं कि वकार इसके लिए माफी मांगेंगे, हमें क्रिकेट जगत को जोड़ना है, ना कि धर्म के आधार पर इसको बांटना है।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *